ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ

Image source,देवर भाभी की सेक्सी एचडी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फिल्में इंडियन: ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ, लेकिन खुल नहीं पा रहे थे।वो दूध गर्म करके ले आई थी, दूध पीते हुए भी मेरा ध्यान टीवी से ज्यादा उनके मम्मों पर था।भाभी ने बात करनी शुरू की और मेरे शारीरिक सौष्ठव की तारीफ़ करने लगी और मेरे पास आकर बिल्कुल मुझसे सट कर बैठ गई।मैंने अपना हाथ उनकी जाँघों पर रखा तो वो अचानक चुप हो गई और फिर एक हल्की सी ‘आह’ ली.

थ्री एक्स ब्लू

तुझे दोबारा डोज देना पड़ेगा।मैं कुछ नहीं बोली और मुँह-हाथ धोकर रसोई में खाना बनाने चली गई।अजय भी पजामा पहन कर मेरे पीछे आ गया।मैंने सफ़ेद टॉप और पीला स्कर्ट पहना हुआ था, यह मुझे पड़ोस की मिश्रा आंटी ने दिया था, जो मेरे लिए भी छोटा ही था।मैं कभी ऐसे कपड़े नहीं पहनती, मगर अब तो ऐसे ही कपड़े इन तीनों को काबू करने के काम आएँगे।अजय- आज तो बड़ी क़यामत लग रही हो. दुल्हन की पहली चुदाईऔर साथ ही पैन्टी भी सरका दी।अब उसकी रसधार इतनी ज्यादा हो गई थी कि उसकी जांघें पूरी गीली हो चुकी थी।क्योंकि ऑपरेशन की वजह से वो अब भी ज़्यादा उठ नहीं सकती थी.

मैं तो जैसे जन्नत में था।फिर मैंने उसे लण्ड को चूसने के लिए कहा लेकिन वो मना करने लगी।फिर मेरे थोड़े जोर देने पर मान गई और धीरे-धीरे से लवड़ा चूसने लगी. गांव का देसी सेक्समुझे नहीं पता था कि मैं क्या बोल रहा हूँ।उसने अपना एक हाथ नीचे से मेरी ब्रा में डाल दिया और मेरी चूचियों को दबाने लगा और दूसरे हाथ से उसने मेरी गाण्ड पर ज़ोर से थप्पड़ मारा.

लौड़ा चूत की दीवारों को चौड़ा करता हुआ अन्दर घुस गया।अभी एक इन्च ही घुसा था कि दीपाली ‘गूं-गूं’ करने लगी… वो जल बिन मछली की तरह तड़पने लगी। अभी तो उसकी सील भी नहीं टूटी थी.ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ: बड़ा मज़ा आ रहा है।दीपाली ने कमर पर हाथ ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया और अपने मचलते चूचे आज़ाद कर दिए।सुई की नोक जैसे नुकीले चूचे आज़ाद हो गए दोस्तों दीपाली के निप्पल हल्के भूरे रंग के.

! क्या आप जानना नहीं चाहते कि आगे क्या हुआ?तो पढ़ते रहिए और आनन्द लेते रहिए…मुझे आप अपने विचार यहाँ मेल करें।[emailprotected].मैं बिस्तर पर गई और अपनी कच्छी उतारी फिर 69 की स्थिति में अपनी चूत को उसके मुँह पर लगा दिया और थोड़ा दवाब दिया।वो जैसे ही उठा तो मैं उसके ऊपर लेट गई और उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी और वो अब मेरी चूत चूस रहा था।तभी उसने एक उंगली मेरी गाण्ड में डाल दी.

इंडियन सेक्सी ब्लू फिल्म - ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ

फिर मेरे बहुत कहने पर वो एक पैग के लिए राज़ी हो गईं।तब उन्होंने अन्दर जाकर फ्रिज में से एक बॉटल निकाली और कहा- ये लो अब खुश.फिर मैंने उसके पीछे खड़े होकर उसकी गर्दन आगे की ओर झुकाई और उसकी रेशमी जुल्फों को उसके कंधों के एक तरफ करके आगे की ओर कर दिया और फिर उसके पीछे से ही खड़े होकर गर्दन पर चुम्बन करते हुए अपने हाथों को उसके बाजुओं के अगल-बगल से ले जाकर.

अब मैंने अपनी पैन्टी पहन ली और नाइटी भी पहन ली और उसके साथ सो गया।सुबह जब हम जागे तब मैं ठीक से चल भी नहीं सकता था.ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ मुझसे उनकी अच्छी दोस्ती थी।जब उनका ड्राईवर छुट्टी पर गया तो उन्होंने मुझसे कहा- आप मैडम को स्कूल छोड़ दिया करो.

मेरे सामने आती जा रही थी और मेरा लंड टाइट होता जा रहा था।अब कुछ दस मिनट तक बहुत ही ध्यान रख कर मैंने उसकी चूत की सफाई की और बहुत ही ध्यान से चूत की दाड़ी बनाई.

ब्लू सेक्सी चोदने वाली?

ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ क्या तने हुए थे और दिखने में सख्त और दबाने में बहुत ही मुलायम थे।उसके चूचुक गुलाबी रंगत लिए हुए थे।मैंने इतने सुन्दर मम्मों की ही उम्मीद की थी।मैं तो उसके ऊपर लपक पड़ा, उसके मम्मे दबाते हुए खूब चूसने लगा, उसे भी बहुत अच्छा लग रहा था।मैंने अपनी शर्ट निकाल दी और अपना नंगा बदन उसके बदन से रगड़ने लगा।उसके मम्मों से मेरी छाती जब चिपकी.

सेक्सी वीडियो देहाती औरत?सेक्सी चूत की सेक्सी

ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ इतना हँसोगी तो पेट में दर्द हो जाएगा।दीपाली- अरे कोई मुझे भी बताएगा कि क्या हुआ?विकास- अरे कुछ नहीं दीपाली… हम दोनों मजाक-मस्ती कर रहे थे… बस उसी दौरान लौड़े पर ज़ोर से चोट लग गई.

सेक्सी वीडियो बीपी गुजराती

फिर मैं भाभी की चूचियों को पीने लगा।उस दिन शाम तक हम दोनों देवर-भाभी चिपके रहे, तभी भाभी का फ़ोन बजा तो उस तरफ से ताई जी बोल रही थीं- कब आओगी?भाभी ने कहा- बस हम आ ही रहे हैं।भाभी ने फ़ोन काट दिया। मैं भाभी को चूमे ही जा रहा था।भाभी- अब बस भी करो.कितनी रण्डियाँ चोदी है तूने हरामी? दिखने में कितना क्यूट है लेकिन मुँह खोलते ही देखो, छोकरा जवान होगया.

ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ और फिर वो गुड्डी की तरफ नजरें फेरते हुए खा जाने वाली नजरों से घूर कर बोली- लड़की होकर लड़कों से उलझते और मजाक करते तुम्हें शर्म नहीं आती.

सेक्सी वीडियो मोटी गांड

चुदाई बिडियोमैंने कहा- ठीक है।वो बोली- कल ही।मैंने कहा- इतनी जल्दी?वो बोली- मेरे पास अधिक वक्त नहीं है तुम ‘हाँ’ बोलो या ‘न’ बोलो।मैंने कहा- हाँ.

किसी नामर्द का लौड़ा भी उसके दूध और चूत देख कर खड़ा हो जाए।मैं उसे अपनी गोद में उठा कर बिस्तर पर ले गया।मैं बिस्तर पर बैठ गया और उसे पास में खड़ा करके उसकी टाइट चूची के गुलाबी निप्पल को मुँह में भर के जोर से चूसने लगा और दूसरी चूची के निप्पल को मसलने लगा।वो मदहोश हो गई और मेरा सिर अपनी चूचियों में दबाने लगी और कहने लगी- बस और बर्दाश्त नहीं हो रहा.तो लड़की के पकड़ने से क्या नहीं हो सकता।वो वापिस अपने राक्षसी आकार में आ गया।मानसी ने लंड देख कर कहा- ये बहुत अच्छा है कितने इंच का होगा?मैंने कहा- तुम्हीं बताओ.

’ वो चीख पड़ी।कुछ ही धक्कों के बाद हम दोनों के मुँह से चुदाई का संगीत निकलने लगा।सिसकारियों की आवाज़ निकल रही थी, वाहह.

मैंने कहा- मैं रामपुर में रहता हूँ।उसने मुझे अपना पता दिया और कहा- आज 9 बजे के बाद आना।मैंने जल्दी-जल्दी नहाया और तैयार हुआ और 9 बजने का इन्तजार करने लगा।जैसे ही 8.

पापा मेरी आँख लग गई थी, इसी लिए…जरा देर हो गई।मैं आगे कुछ बोल पाती इससे पहले पापा ने एक जोरदार तमाचा मुझे जड़ दिया।मैं रोने लगी और अपने आप को बचाने के लिए मैंने वो बोल दिया जो शायद मुझे नहीं बोलना चाहिए था।रानी- उउउ उउउ पापा. जिससे उसका जोश बढ़ गया और वो जोर-जोर से कमर हिलाते-हिलाते शांत हो गई।उसकी चूत इतना अधिक पनिया गई थी कि मेरा लौड़ा फिसल कर बाहर निकल गया।मैंने फिर से अपने लौड़े को अन्दर डाला और अब हाथों से उसके मम्मों को भींचते हुए उसकी चुदाई चालू कर दी.

हिंदी वीडियो सेक्सी बीपी आज के पहले मुझे लौड़ा चुसाई में इतना आनन्द नहीं मिला था।फिर मैंने पास रखी बोतल उठाई और पानी के कुछ ही घूट गटके थे कि माया आई और दर्द भरी आवाज़ में बोली- राहुल आज तूने तो मेरे मुँह का ऐसा हाल कर दिया कि बोलने में भी दुखता है.

सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर वीडियो

ब्लू बीएफ हिंदी ब्लू बीएफ: हम उसके घर आ गए और उस आदमी ने मुझे कम्प्यूटर पर गेम में लगा दिया और मुझे वो खेलने को बोला।वो दूसरे कमरे में माँ को ले गया।लेकिन वो एक खिड़की बंद करना भूल ही गया और मुझे लगा कि कुछ गड़बड़ है तो मैं उसे खिड़की से छुप कर देखने लगी।मैंने देखा कि वो माँ को पकड़ कर उनके मम्मे दबा रहा है और उनको गाल पर चुम्बन कर रहा है।तब माँ बोली- अरे आज ऐसा मत करो.नीलम रानी अपनी बुर को मेरे लण्ड से ज़ोर ज़ोर से रगड़ रही थी, रगड़ती फिर धक्के मारती, फिर रगड़ती और फिर से धक्के मारती।वो भी अब बेकाबू हो चली थी, कुछ ही देर में एक बार फिर से अनगिनत बार स्खलित हो जाने वाली थी।‘कमीना चोदू… साले चूत के दीवाने अब लगा दे तगड़े तगड़े धक्के… रुक ज़रा, मैं तेरे हाथ खोलती हूँ.