हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर

Image source,छोटी बहन को

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म सेक्सी बढ़िया: हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर, अगर यह बात है तो मैं ही उतार देता हूँ।उसकी पैन्ट उतारने के बाद जब उसकी पेंटी का रंग भी काला देखा तो फ़िर मुझसे भी पूछे बिना नहीं रहा गया कि उसने ब्रा ओर पेंटी दोनों ही काले रंग के क्यों पहने हैं?सीमा- मुझे पता है कि तुझे काला रंग बहुत पसंद है।मैं- नहीं.

क्सक्सक्स+वीडियो

ऐसा लगता है कि इसके मम्मों को तो कच्चा ही खा जाऊँ…तभी दादा जी बोले- चलो हम तीनों अपने अंडरवियर बनियान सब उतार दो और अब निकी को इतना मज़ा दो कि जिंदगी में ये हमें भूल ना पाए…और उनकी आहट से मुझे पता चला कि उन तीनों ने अपने सब कपड़े उतार दी और नंगे हो गए. सेक्सी ओपन बीपी वीडियोजाओ ज़रा कंप्यूटर ऑन कर देना।आंटी फिर से अपने सीरियल देखने लग गईं और मैं और तृषा उसके कमरे की ओर बढ़ चले।तृषा ने कंप्यूटर ऑन किया और मुझे कुर्सी पर बैठने को बोली।मैंने तृषा के हाथ को पकड़ा और एक झटके से उसे अपनी ओर खींच लिया। तृषा अब मेरी बांहों में थी।तृषा- छोड़ो मुझे.

पर अंधेर नहीं।आखिरकार मुझे एक एमएनसी कंपनी में जॉब मिल गई।जैसे कि मैंने आपको बताया मैं पुणे में जॉब ढूँढ़ने के लिए आया था. सेक्स वीडियो ब्लू वीडियोतो मैं आपका अहसान जिंदगी भर नहीं भूलूंगी।ममता के बाहर जाते ही राधे ने मीरा को आँख दिखाई- तुम पागल हो क्या.

तो मैं तुम्हें कोल्ड-ड्रिंक, बादाम-मिल्क, बर्फ का गोला और कुल्फी-फालूदा खिलाऊँगी।यह सब मुझे बहुत पसंद था.हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर: मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।दी ने धीरे से मेरे गालों को चूमा और वो फिर बार-बार चूमने लगीं। मैं भी उस दौरान उनकी पीठ सहलाने लगी।तभी.

क्योंकि वो औरत मेरी पैन्ट की जिप खोल रही थी। मैं आँखें मूँदे बैठा रहा और फिर मैंने अपना बैग कुछ इस तरह रख लिया ताकि उसको आड़ मिल जाए और उस का काम आसान हो जाए।मेरी इस हरकत को उसने मेरी सहमति मान ली और बेफिक्र होकर जिप खोल दी और मेरा लंड पकड़ लिया।मैंने भी पैर फैला से दिए.अब मैं उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लण्ड चूस रही थी। मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था। मेरा लण्ड किसी ने पली बार चूसा था.

एक्स एक्स - हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर

’ की मधुर ध्वनि गूँज रही थी।कुछ ही पलों में मैं भी उसके ऊपर ढेर होता चला गया और मैं निचेष्ट हो कर एकदम से बेसुध हो गया.तो कभी मेरे गले को चूमती।मैं तो जैसे जन्नत में विचर रहा था। जिन्दगी में पहली बार किसी के साथ चूमा-चाटी कर रहा था।वो पूरी गरम होकर जोश में चूम रही थी और मैं तो इसे अब भी सपना समझ रहा था।तभी कुछ गिरने की आवाज आई और हम दोनों डर कर अलग हो गए.

ममता ज़ोर-ज़ोर से चिल्ला रही थी। मगर सरजू तो बस ‘घपाघप’ लौड़ा पेल रहा था। पांच मिनट में ही उसका लौड़ा अकड़ गया और ममता की सुखी चूत को गीला कर दिया।सरजू- आह्ह.हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर दो साल पूर्व मेरी शादी भी हो गई। अब मुझे अपनी पत्नी के साथ सेक्स करने में कोई ख़ास आनन्द नहीं आता।वैसे भी मेरी पत्नी की योनि पहले दिन से ही ढीली-पीली सी है, जिसमें से न जाने सफ़ेद-सफ़ेद तरल सा जाने क्या निकलता रहता है?उसकी योनि से दुर्गन्ध सी भी आती रहती है! उसे चोदने का बिलकुल दिल नही करता मेरा.

उन्होंने मुझसे हाथ मिलाया।फिर वो वहाँ से मुझको अपनी कार से घर ले गईं। हम घर के अन्दर गए और उन्होंने दरवाजा बन्द कर लिया।वो करीब 40 साल की एकदम चिकनी औरत थी.

এক্স এক্স এক্স এক্স বিএফ?

हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर हम लोग मुँह-हाथ धोकर फल खाने लगे। थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे अपने पास बुलाया और बोलीं- अब जरा मालिश दे दो.

चूत की चुदाई दिखाएं?सौतेली बहन की बीएफ

हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर जैसे मुझे उनका ही इंतजार रहता हो।वो रोज 5 बजे सुबह झाड़ू लगाने छत से नीचे उतरती थी। जब भी वो झाड़ू लगाती थी.

एक्स वीडियो फॉरेन

वो मेरे लण्ड पर ऊपर-नीचे कर रही थीं और उनको मैंने पीठ से दोनों हाथों से पकड़ रखा था, उनके कोमल चूचियाँ मेरे सीने पर रगड़ रही थीं और में उन्हें चूम भी रहा था।वो तेज़-तेज़ ‘आआआह्ह.कुछ देर के लिए रूक गया।कुछ देर बाद जब वो कुछ सामान्य हुई तो मैंने भी धीरे-धीरे धक्के देने शुरू कर दिए। धीरे-धीरे वो भी मेरा साथ देने लग गई। उसको भी मजा आ रहा था, उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं।उसके मुँह से मादक और कामुक आवाजें निकल रही थीं- आह.

हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर अभी भी वो गुड़िया हम दोनों के बीच ही थी लेकिन छोटी होने के कारण मेरा हाथ आसानी से दी के कमर पर चला गया।अब मैंने धीरे से अपना हाथ दी के बूब्स की तरफ बढ़ाना शुरू किया। दी हमारी तरफ पीठ करके लेटी थी तो मैंने धीरे से उनके राइट साइड के बूब को धीरे से छुआ.

इंडियन गर्ल की चुदाई

अभी की सेक्समुझे यही सोच कर डर लगने लगा।मैं फिर बिस्तर में आकर उसकी यादों में अपनी गाण्ड के छेद को धीरे-धीरे सहलाने लगा।मैंने टाइम देखा तो सुबह के 10 बज गए थे। मुझे भी काम पर जाना था.

ऐसे ही 5 मिनट तक राधे मज़े से चूचे चोदता रहा और ममता की उत्तेजना बढ़ती रही। उसकी चूत दोबारा से पानी छोड़ने के लिए ‘फड़फड़’ करने लगी थी।ममता- आह.उस पूरे सैट पर मैं उन दोनों को भगाने लगा और पूरे सैट पर सब लोग हंस-हंस कर लोट-पोट हो रहे थे।हमारी आज की शूटिंग ख़त्म हो चुकी थी। सो अब वापस घर जाने का वक़्त था। मैं तृषा की कार में बैठ गया और तृषा ड्राइव करने लग गई।तृषा- तुम्हें ड्राइव करना नहीं आता है?मैं- आता है।तृषा- तो फिर ड्राइव क्यूँ नहीं करते हो?मैं- वो मेरे दोनों हाथ फ्री रहते हैं न.

पर मैं भी लौड़े को धकेले जा रहा था।फिर एक झटके में मैंने पूरा हथियार चूत की जड़ तक अन्दर कर दिया और जोर-जोर से झटके देने लगा।कुछ देर बाद भाभी की ‘आह.

इस वजह से कोई भी मेरा दोस्त बन जाता है।स्नेहा की मम्मी हम दोनों को एक साथ खेलते देख खुश नजर आ रही थी और मुस्कुरा रही थी। उसकी मुस्कुराहट क्या थी दोस्तों.

उसके मस्त नैन-नक्श थे।क्लीनिक में आते ही उसने मुझे देख कर बोला- सर से मिलना है।मैंने कहा- आप पहले फॉर्म भर दीजिए।फॉर्म भरते हुए वो पूछने लगी- क्या सच में यहाँ गुप्त रोगों का इलाज होता है?तो मैंने बोला- जी हाँ बिल्कुल!तो नेहा बोली- आपको बहुत विश्वास है?मैं बोला- जी हाँ. रात में ऑटो वाले से किसी ग़लत मोड़ पर रुकवा लिया था और रास्ता भूल कर यहाँ आ गई थी।वो एक स्टूडेंट थी और फ्रेंड्स के साथ फ्लैट ले कर रहती थी।मैंने उसका पता पूछा और उसको छोड़ने की पेशकश की.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीपी व्हिडिओ तो वो चिल्ला उठी। वो जोर से रोने लगी और छोड़ने के लिए बोली।उसकी चूत फूली हुई रोटी की तरह और एकदम टाइट थी और ये उसका पहली बार था.

देवर भाभी की सेक्सी वीडियो हिंदी में

हिंदी हिंदी बीएफ पिक्चर: ताकि मैं ही अपनी तरफ से पहल करूँ।तो मैंने भी कुछ सोचते हुए बोला- क्यों तुम्हें पहले किसी ने मना किया है क्या?बोली- नहीं.वो मेरे सामने खुल गई और चुदने को राजी हो गई। मैंने उसे पकड़ लिया और उसके होंठों पर अपने होंठों रख दिए।आह.