मौसी की चुदाई की कहानी

Image source,बेवफा बेवफा है तू

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी ब्लू फिल्म सेक्सी: मौसी की चुदाई की कहानी, मेरे लंड ने भी पानी छोड़ दिया और मैंने अपना माल दोनों बहनों की रसीली चुचियों पर निकाल दिया.

सेक्स ड्राइव

दिव्या ने तो जैसे मेरी मुस्कराहट को पढ़ लिया था; तुरंत मुझे चिढ़ाते हुए बोली- लगता है मौसी का मैसेज है. हॉट रोमांस वीडियोअब उसके सामने मैं केवल एक ब्रा में थी।मेरी पहाड़ जैसी चूचियों को देखकर मानो वो पागल से हो गया।वो ब्रा के ऊपर से ही तेज से मसलने लगा जिससे मुझे थोड़ी सी दर्द हुई.

भाभी पूरी तरह तिलमिलाने लगी और मैं किस करते करते ऊपर की तरफ आने लगा।मैंने उनकी पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर किस किया और देखा कि भाभी की चूत से धीरे धीरे पानी आ रहा है. बाप बेटी की चुदाई की कहानीवो मेरा सर पकड़ कर कराहने लगी- आह आह जोर से चाटो ना … आ … आह … आह … और जोर से चाटो मेरी जान.

अब आगे सिस्टर सेक्स्क्स स्टोरी:मनीष के ऑफिस निकलते ही घर के अन्दर नेहा और स्नेहा दोनों बहनें सोफे पर आ गईं.मौसी की चुदाई की कहानी: अब लिंग को उसकी उम्मीद से ज्यादा धीमे-धीमे आगे-पीछे करना शुरू कर दिया.

मैंने बोला- आप बुरा तो नहीं मानोगी?आंटी ने एक स्माइली के साथ लिखा- तुम बोलो तो सही.पर इतना पक्का था कि हम दोनों में से किसी ने कभी इसका इस्तेमाल नहीं किया था.

चोदने वाली मशीन - मौसी की चुदाई की कहानी

कुछ देर बाद विक्रम बोला- रुको भाभी, तुम्हारा घुटना दर्द कर रहा होगा, तुम मेरे ऊपर आ जाओ.मैंने थोड़ी देर लंड चूत पर रगड़ा और उसके छेद की तरफ करके धीरे से दबाव बनाया, जिससे वह धीरे धीरे अन्दर जाने लगा.

मैं किताब को खोलकर देखने लगा तो उसमें विदेशी लौड़े गोरी चूतों में घुसे हुए थे और साथ में सेक्सी कहानियां भी लिखी हुई थीं.मौसी की चुदाई की कहानी सबसे पहले हम लोग ने महमानों को स्टेशन छोड़ा और फिर वापस जल्दी से गांव की तरफ आ गए.

फिर बिना कुछ कहे मेरे होंठ उसके प्यारे लाल सुर्ख होंठों से टकरा गए और हम दोनों एक दूसरे को ऐसे चूमने लगे जैसे कि ये पहली और आखिरी बार का प्यार हो.

सेक्सएक्सी वीडियो?

मौसी की चुदाई की कहानी आंटी की गांड मेरे वीर्य से भर गयी और हम दोनों बेड पर लेट कर एक दूसरे से चिपक गये.

गर्म मसाले की सामग्री?कट्रीना सेक्स

मौसी की चुदाई की कहानी सुरेश ने मेरी बेटी सोनी की कमर पकड़ रखी थी जिसके कारण वो जाल में फंसी हुई मछली की तरह फड़फड़ा रही थी.

भोजपुरी आर्केस्ट्रा नंगा

मगर इस बार मैंने चाची की एक ना सुनी बस उनकी गांड को जोरों से चोदने में लग गया.मुझे तो अन्दाजा था कि साला सुरेश उसे तरसा रहा है क्योंकि औरत जात जब गर्म हो जाती है तो उसे पुरुष का साथ अच्छा लगने लगता है.

मौसी की चुदाई की कहानी मैं अब संजू की चूत के पास अपना मुँह ले गया और उसकी चुत के दाने को चूसने लगा.

हिमाचल का सेक्स

डिस्कवरी चैनल हिंदी मैमैं डर के सीधे ऊपर उनके बगल में आ गया।कुछ समय बाद मैं अपना हाथ उनकी गदरायी हुई चूची पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा।तभी मुझे थोड़ा अहसास हुआ कि चाची शायद जगी हुई है परन्तु कुछ बोल नहीं रही।मैंने सोचा कि ऐसा बढ़िया मौका फिर शायद नहीं मिलेगा।तो मैंने धीरे से उनके ब्लाउज के बटन खोलने शुरू कर दिए।अब उनकी चूची सिर्फ ब्रा में थी।मैं उनकी ब्रा को बिना हूक खोले ऊपर करने लगा.

उसमें 6 अलग अलग तरह के नकली प्लास्टिक और रबर के लिंग थे, जैसे कि वयस्क फिल्मों में होते हैं.तो मैंने ही कहा- कोई बात नहीं भाभी शर्माओ नहीं, मैं आपका देवर ही तो हूँ … और वैसे भी देवर भी तो आधा पति ही होता है.

मैंने गुलजान से उसकी चूत हेलीमा के मुँह पर मेरी ओर मुँह करके बैठ जाने को बोला.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से लॉक कर दिया और कुछ समय उसी तरह उसकी बुर में लंड को रहने दिया.

शायरा तो अपना दर्द हल्का करने के लिए मकान मालकिन के पास चली जाती थी … मगर मैं सारा दिन अपने कमरे में ही पड़ा रहता था. फिर मैंने धक्के मारते हुए उसकी चूत में ही सारा माल निकाल दिया और मैं हांफता हुआ उसके ऊपर गिर गया.

मां बेटी मां बेटी वो मेरे सोये हुए लंड का उभार देखकर गाउन के ऊपर से ही अपनी चूत सहला रही थी.

सांचौर सेक्सी वीडियो

मौसी की चुदाई की कहानी: मुझे ध्यान आया तो मैंने कहा- अरे नहीं यार, फिर कभी आऊंगी, तब कर लेना.कुछ दिन बाद शामली मुझसे बोली- प्रकाश तुम ये बैग या तो आगे लगाया करो, नहीं तो मुझे दे दो.